दिल्ली के स्कूलों में नशे के शिकार छात्रों के सर्वे की मांग

नई दिल्ली, 01 जुलाई। कांग्रेस के मोतीलाल वोरा ने आज पूर्वी दिल्ली के स्कूलों में छात्रों के नशे के शिकार होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस पर रोक लगाने के लिए प्रभावी उपाय किये जाने चाहिए।
श्री बोरा ने शून्य काल के दौरान इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि पूर्वी दिल्ली के 368 स्कूलों के आठ से ग्यारह वर्ष के 75037 बच्चों का सर्वे किया गया है जिनमें से 12627 बच्चों के नशीले पदार्थ लेने बात सामने आयी है। इनमें से 8142 बच्चे सुपारी के साथ अफीम लेते हैं जबकि 2410 बीड़ी – सिगरेट पीते हैं और 223 शराब पीते हैं। उन्होंने पूरे दिल्ली के स्कूलों का सर्वे कराने तथा इस पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि नशे के सामान स्कूलों के निकट मिलते हैं और कुछ केमिस्ट भी इसे उपलब्ध कराते हैं।

सभापति एम वेंकैया नायडु ने इस मुद्दे को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि इसी मुद्दे पर उन्होंने एक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव को स्वीकृत किया है जिस पर सदस्य अपनी राय व्यक्त कर सकते हैं। कांग्रेस की विप्लव ठाकुर ने धर्मशाला से दिल्ली के हवाई किराया का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इसे पूर्वोत्तर के तर्ज पर लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मार्ग पर एयर इंडिया का किराया 20 हजार से 25 हजार तक पहुंच जाता है जो बहुत अधिक है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला एक पर्यटन स्थल है जहां लोग जाना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *