पांच वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म मामले ने पकड़ा तूल

पलवल, 01 जुलाई पृथला विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में पांच वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर उसकी पढ़ाई के कागजात के आधार पर उसे नाबालिग दिखाया है, जबकि पीड़ित पक्ष का आरोप है कि आरोपी बालिग है, उसके बाल व डाढ़ों की मैडिकल जांच कराई जाए ताकि उसकी सही उम्र का पता चल सके। पीड़ित पक्ष का आरोप है कि उसके माता-पिता पर उन्हें राजीनामा न करने पर जान से मरवाने की धमकी दे रहे है। जिसकी शिकायत पीड़ित पक्ष ने गांव के लोगों के साथ एसपी कार्यालय पहुंच कर एसपी दी। एसपी नरेंद्र बिजारनिया ने दोनों मामलों में पीड़ित पक्ष को आश्वासन दिया है कि आरोपी की मैडिकल जांच करा ली जाएगी और धमकी देने के मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी। लघु सचिवालय स्थित एसपी कार्यालय पर सोमवार को सुबह पीड़ित पक्ष के साथ गांव के दर्जनों लोग पहुंचे और एसपी से न्याय की गुहार लगाई। पीड़ित पक्ष का कहना था कि आरोपी की पढ़ाई के कागजों में कम उम्र दर्शाई गई है, जबकि उसकी उम्र वास्तव में अधिक है। पीड़ित पक्ष ने एसपी को लिखित में दिया है कि आरोपी के बाल व डाढ़ों की जांच कराई जाए ताकि आरोपी की सही उम्र का पता चल सके और उसे अपने गुनाह की उचित सजा मिल सके, क्योंकि आरोपी ने यह एक बहुत ही घिनौना अपराध किया है। पीड़ित पक्ष की गुहार सुनने व लिखित ज्ञापन लेने के बाद एसपी ने कहा कि जल्द ही आरोपी की उम्र के बारे में चिकित्सकों से मैडिकल कराकर पता लगाया जाएगा। वहीं, पीड़ित पक्ष की ओर से एक शिकायत भी एसपी को दी गई है, जिसमें पीड़ित बच्ची के पिता ने आरोप लगाया है कि आरोपी को जब पुलिस पकडकर लाई थी तो शाम के समय आरोपी के माता-पिता उसके घर पहुंचे और गाली-गलौच करने लगे, इतना ही नहीं आरोपी की मां ने धमकी दी कि यदि इस मामले में राजीनामा नहीं किया तो वह अपने कपड़े फाडकर उसे (पीडि़ता के पिता को) झूठे केस में फंसा देगी। आरोप लगाया है कि आरोपी के पिता ने कहा कि यदि राजीनामा नहीं किया तो उसे व उसके परिवार को गोली मारकर हत्या करा देंगे। पीड़ित परिवार ने एसपी से शिकायत कर जान-माल की रक्षा की गुहार लगाते हुए आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है। एसपी ने पीड़ित पक्ष की लिखित शिकायत लेने के बाद उन्हें आश्वासन दिया कि वे इस मामले की जांच कराकर उचित कार्रवाई अमल में लाऐंगे। इसके बाद पीड़ित पक्ष के साथ आए दर्जनों लोग वापस अपने घरों को चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *