बीसीसीआई सीईओ जोहरी की लैंगिक संवेदनशील मामलों पर काउंसिलिंग

नई दिल्ली, । बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी को लैंगिक संवेदनशील काउंसलिंग सत्र से गुजरना पड़ा जिसकी सिफारिश उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच करने वाली स्वतंत्र समिति की सदस्य और वकील वीना गौड़ा ने की थी। यह सिफारिश सीआईओ पर बाध्यकारी नहीं थी क्योंकि जांच समिति ने पिछले साल नवंबर में उन्हें सर्वसम्मति से आरोपमुक्त करार दिया था। इस समिति में गौड़ा के अलावा न्यायमूर्ति राकेश शर्मा और बरखा सिंह शामिल थे। बीसीसीआई की आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) की भी स्वतंत्र सदस्य गौडा ने जोहरी के लिये लैंगिक संवेदनशील काउंसिलिंग की सिफारिश की थी। इसी सिफारिश के आधार पर रेनमेकर नामक कंपनी ने मंगलवार को मुंबई में बीसीसीआई मुख्यालय में जोहरी के साथ एक सत्र आयोजित किया। यह कंपनी पोश (कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से बचाव) में विशेषज्ञ मानी जाती है। कंपनी ने इसके साथ ही बीसीसीआई की दस महिला कर्मचारियों के साथ भी एक सत्र का आयोजन किया जिसमें यौन उत्पीड़न के खिलाफ बचाव को लेकर उन्हें उनके अधिकारों से अवगत कराया गया। जोहरी के खिलाफ सोशल मीडिया पर एक अज्ञात व्यक्ति की पोस्ट में उत्पीड़न के आरोप लगाये गये थे। इस पोस्ट को बाद में हटा दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *