महिला क्रिकेट: मंधाना का अर्धशतक बेकार, 2 रन से हारी भारतीय टीम

हेमिल्टन, । न्यूजीलैंड ने सेडन पार्क मैदान पर रविवार को खेले गए तीसरे टी-20 मुकाबले में भारत को दो रनों से हरा दिया। इसके साथ मेजबान टीम ने तीन मैचों की सीरीज 3-0 से जीत ली।

भारतीय टीम 162 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए स्मृति मंधाना (86) की तेज अर्धशतकीय पारी की बदौलत एक समय जीत की स्थित्ति में थी लेकिन धीरे-धीरे मैच उसके साथ से निकल गया और वह 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 159 रन ही बना सकी। न्यूजीलैंड की ओर से सोफी डिवाइन ने दो विकेट लिए।

इससे पहले, सोफी डिवाइन (72) के तेज अर्धशतक की बदौलत न्यूजीलैंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में सात विकेट पर 161 रन बनाए। 52 गेंदों पर 8 चैके तथा दो छक्के लगाने वाली डिवाइन के अलावा सूजी बेट्स ने 24 तथा कप्तान एमी सैदरवेट ने 31 रनों का योगदान दिया। भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने दो विकेट लिए जबकि अरुंधति रेड्डी, राधा यादव, मानसी जोशी और पूनम यादव को एक-एक सफलता मिली।

आईएसएल-5: आज घर में एटीके का सामना करेगी पुणे

पुणे, 10 फरवरी (वेबवार्ता)। दो बार की चैम्पियन एटीके और एफसी पुणे सिटी हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में सेमीफाइनल की उम्मीदों को जिंदा रखने के लिए आज यहां श्री छत्रपति शिवाजी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स स्टेडियम में एक-दूसरे के खिलाफ मुकाबले में उतरेगी। दोनों टीमों के लिए प्लेऑफ की जंग कठिन है लेकिन नामुमकिन नहीं है। एटीके के खाते में 14 मैचों से 20 अंक हैं और वह तालिका में छठे स्थान पर काबिज है जबकि पुणे सिटी के पास 14 अंक हैं जबकि उसके खाते में अभी पांच मैच शेष हैं।

मेजबान टीम लगातार तीन जीत के बाद इस मैच में उतरेगी। उसने अपने पिछले मैच में मौजूदा चैम्पियन चेन्नइयन एफसी को 2-1 से हराया था। दूसरी ओर, स्टीव कोपेल की टीम लीग के शुरुआती मैचों में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद लय में लौटी है। उसने शुरुआती 12 मैचों में 10 गोल किए हैं और बीते दो मैचों में तीन बार गोल कर चुकी है। विंटर ट्रांसफर विंडो में इदु बेदिया को अपने साथ जोड़ने के बाद यह टीम आत्मविश्वास से भरी हुई नजर आ रही है। कालू उचे के लौटने से भी यह टीम मजबूत हुई है। मैनुएएल लेंजारोते, गार्सिया और एवर्टन सांतोस के बीच का तालमेल टीम के लिए फायदेमंद साबित हो रहा है।

पुणे पर जीत एटीके के लिए काफी फायदेमंद होगी क्योंकि इससे वह अंक तालिका में चैथे स्थान पर काबिज नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी और अपने बीच अंकों के फासले को कम कर लेगी। पुणे को हराने के लिए जॉन जॉनसन के नेतृत्व वाले एटीके के डिफेंस को पुणे के तेजतर्रार आक्रमणपंक्ति से सावधान रहना होगा। पुणे के खिलाफ एटीके का रिकार्ड अच्छा नहीं रहा है। इन दो टीमों के बीच अब तक नौ मुकाबले हुए हैं, जिनमें से दो बार ही एटीके को जीत मिली है। अब देखने वाली बात यह है कि क्या एटीके अपना पिछला रिकार्ड बेहतर करते हुए प्लेऑफ की ओर कदम बढ़ा पाएगी या फिर एक बार फिर स्टैलियंस नाम से मशहूर पुणे की टीम कोलकाता की इस चैम्पियन टीम पर हावी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *