मोनाको प्रिंस की भारत यात्रा संपन्न

नई दिल्ली, । मोनाको के प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय की आधिकारिक भारत यात्रा रविवार को संपन्न हुई। उनकी सात दिवसीय भारत यात्रा 04 फरवरी से शुरू होकर 10 फरवरी तक थी। अपनी भारत यात्रा के दौरान प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय ने भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सहित कई लोगों से मुलाकात की। साथ ही दिल्ली में कई कारोबारियों से मुलाकात और बिजनेस कार्यक्रमों में शिरकत की। दिल्ली से प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय राजस्थान गए और उदयपुर, जोधपुर, जयपुर में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। भारत यात्रा के पहले दिन मोनाको प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय सोमवार सुबह दिल्ली पहुंचे। दोपहर में उन्होंने कारोबारी संगठन फिक्की द्वारा आयोजित भारत-मोनाको बिजनेस फोरम में हिस्सा लिया। मोनाको के राजकुमार अल्बर्ट द्वितीय ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत और मोनाकों के बीच द्विपक्षीय सहयोग के लिए नवीकरणीय ऊर्जा, जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण जैसे क्षेत्रों को प्राथमिकता देने पर जोर दिया। पीएम नरेन्द्र मोदी और मोनाको प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय की नई दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मुलाकात हुई। दोनों ने भारत-मोनाको के बीच बेहतर राजनयिक संबंधों पर बात की और उवके नेतृत्व में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक हुई। इसके बाद बुधवार,06 फरवरी को मोनाको प्रिंस उदयपुर(राजस्थान) गए, जहां स्थानीय कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। गुरुवार को उदयपुर से विशेष विमान में जोधपुर पहुंचे, जहां उनका विंटेज कारों से स्वागत किया गया। प्रिंस अल्बर्ट जोधपुर एयरपोर्ट से उम्मेद भवन गए। यहां पर भी राजसी परंपरा से उनका स्वागत किया गया। उन्होंने खासबाग में विंटेज कार संग्रहण का अवलोकन किया। उन्होंने उम्मेद भवन की स्थापत्य कला को देखकर उसे अद्भुत बताया। पूर्व नरेश गजसिंह के साथ प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय ने बैठक की और रात्रि भोज में हिस्सा लिया। शुक्रवार सुबह विशेष विमान से प्रिंस अल्बर्ट जोधपुर से जयपुर के लिए रवाना हुए। मोनाको प्रिंस की भारत की आधिकारिक यात्रा 10 फरवरी, रविवार को संपन्न हुई। उल्लेखनीय है कि भारत और मोनाको के बीच 2017-18 में द्विपक्षीय व्याजपार 3.01 मिलियन डॉलर का रहा। दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्या1पार को बढ़ाने की काफी संभावनाए हैं। भारत में विदेशी प्रत्य1क्ष निवेशक(अप्रैल 2000 से जून 2018 तक) के रूप में मोनाको का 106वां स्थाकन है, जिसके साथ एफडीआई का इक्विटी प्रवाह 2.51 मिलियन अमेरिकी डॉलर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *