रेल मार्ग बदलने के लिये पटनायक ने गोयल को पत्र लिखा

भुवनेश्वर। ओडिशा सरकार ने सोमवार को केंद्र को पत्र लिखकर बालेश्वर-दीघा ब्रॉड गेज रेल परियोजना के तहत मार्ग निर्धारण में परिवर्तन का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि परियोजना को 2011 में मंजूरी मिली थी और पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल में जमीन अधिग्रहण से संबंधित विवादों के चलते यह अब तक शुरू नहीं हो पायी। परियोजना के तहत 41 किलोमीटर लंबे रेल मार्ग में सात किलोमीटर हिस्सा पश्चिम बंगाल से होकर गुजरने वाला है और शेष हिस्सा ओडिशा में पड़ेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखे अपने पत्र में पटनायक ने उन्हें आश्वस्त किया कि अगर परियोजना को मंजूरी मिल जाती है तो जमीन अधिग्रहण के लिये राज्य जरूरी सहयोग देगा। पटनायक ने कहा, चूंकि ओडिशा में इस अहम परियोजना का कार्य सात साल से अधिक समय से रुका हुआ है, इसलिए मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया इस मामले में दखल दें और मार्ग निर्धारण में बदलाव का फैसला जल्दी करें ताकि पूरा प्रस्तावित रेल मार्ग ओडिशा से ही होकर गुजरे। मुख्यमंत्री ने गोयल को यह भी याद दिलाया कि इस संबंध में वह पहले प्रधानमंत्री को भी पत्र लिख चुके हैं। 2011 में तत्कालीन प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने परियोजना के तहत रेल मार्ग पश्चिम बंगाल के दीघा पहुंचने से पहले इसके भूसंधेश्वर, चंदनेश्वर और तलसारी-उदयपुर तट जैसे तीर्थस्थलों और पर्यटन स्थलों से होकर गुजरने का प्रस्ताव रखा था। उन्होंने कहा कि इस मार्ग से न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि इससे क्षेत्र की सामाजिक-आर्थिक स्थिति सुधारने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *